धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

मंगलवार, 24 जनवरी 2017

बाल बाल बची मुजफ्फरपुर भागलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस, हादसा टला

पटना। सोनपुर रेलवे डिविजन में रविवार देर रात एक बड़े रेल हादसे को होने से बचा लिया गया। पूर्व मध्य रेलवे के मुताबिक, 'जानबूझकर' पत्थर के दो स्लैब ट्रैक पर रख दिए गए थे, जिन्हें जानकारी मिलते ही हटा लिया गया। ट्रैक पर स्लैब पड़े होने की जानकारी देने वाले पट्रोलिंग टीम के 2 सदस्यों को सम्मानित किया जाएगा। बता दें कि शनिवार को ही एक बड़ा रेल हादसा हुआ था, जिसमें 39 लोगों को मौत हो गई थी।
पूर्व मध्य रेल के जनरल मैनेजर डीके गायेन ने संवाददाताओं को बताया कि स्लैब को पट्रोलिंग के दौरान हटाया गया। गश्तीदल के दो सदस्यों ने दो स्लैब देखे जो 'जानबूझकर' ट्रैक पर रखे गए थे। ये स्लैब दलसिंहसराय और सथाजगत रेलवे स्टेशन के बीच रखे गए थे। घटना रात 12.20 बजे की है जब मुजफ्फरपुर-भागलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस वहां से गुजरने वाली थी। पत्थर को गश्त कर रहे चार लोगों द्वारा हटाना मुश्किल था, जिसके बाद उन्होंने दलसिंहसराय स्टेशन को इसकी जानकारी दी और आरपीएफ, जीआरपी और इंजिनियरिंग डिविजन के अधिकारी वहां रात 1.22 बजे पहुंचे। ट्रैक रात 1.44 तक साफ हुआ। इस बीच इंटरसिटी एक्सप्रेस को दलसिंहसराय स्टेशन पर रोक लिया गया। गश्तीदल के सदस्य मंजूर आलम और रमेश प्रजापति को इसके लिए सम्मानित किया जाएगा। सोनपुर रेलवे डिविजन के जीएम ने कहा कि हाल के दिनों में ट्रेन दुर्घटनाओं को देखते हुए ट्रैक की पट्रोलिंग बढ़ा दी गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।