धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

मंगलवार, 31 जनवरी 2017

उत्तर भारत में हुई कोहरे की एक बार फिर से वापसी

नवबिहार न्यूज नेटवर्क। उत्तर भारत में जबर्दस्त कोहरे की एक बार फिर से वापसी हो चुकी है. पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार के तमाम इलाकों में घने से बहुत घने कोहरे ने यातायात पर बुरा असर डाला है. मौसम विभाग का अनुमान है कि बिहार से लेकर पंजाब तक घने कोहरे का सिलसिला अगले 3 दिनों तक यानि 2 फरवरी तक बना रहेगा. इस दौरान दिल्ली एनसीआर के कई इलाकों में सुबह के वक्त जीरो विजिबिलिटी होने की आशंका है. उधर कोहरे के मामले में उत्तर प्रदेश में तराई से लेकर गंगा यमुना के दोआबे तक स्थिति गंभीर बनी रहेगी.

मौसम विभाग का कहना है कि पिछले दिनों हुई बारिश की वजह से वातावरण में नमी की अच्छी खासी मात्रा है और इसी के साथ कोई वेदर सिस्टम न होने की वजह से उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में हवा थमी हुई है. रात के तापमान कई जगहों पर 60 डिग्री सेल्सियस से लेकर 11 डिग्री सेल्सियस के बीच बने हुए हैं. मौसम वैज्ञानिक इन स्थितियों को कोहरे के लिहाज से काफी अनुकूल बताते हैं. थमी हुई हवा के बीच बढ़ी हुई नमी की मात्रा बिहार से लेकर पंजाब तक घना कोहरा पैदा कर रही है. ऐसा अनुमान है कि 30 जनवरी, 1 फरवरी और 2 फरवरी तक यह स्थिति बनी रहेगी. इस वजह के चलते घने से बहुत घने कोहरे से लोगों को दो-चार होना पड़ेगा.

पिछले 24 घंटे की बात करें तो लुधियाना, अंबाला, पटियाला, नई दिल्ली, आगरा, बरेली, शाहजहांपुर, वाराणसी, पंतनगर, सुंदर नगर, अमृतसर, लखनऊ, हमीरपुर, खजुराहो और गया में विजिबिलिटी गिरकर 50 मीटर के नीचे पहुंच गई. ऐसा अनुमान है कि इन सभी जगहों पर घने कोहरे की स्थिति में अगले 3 दिनों तक कोई सुधार नहीं आएगा. घने कोहरे की वजह से रेल यातायात के साथ-साथ हवाई यातायात पर भी बुरा असर पड़ रहा है.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।