धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

शुक्रवार, 25 अगस्त 2017

इनसे सीखें: गांव के लड़के ने 10 रुपए से शुरू किया बिजनेस, बना नामी कंपनी का CEO

मां की याद में चुनी कामयाबी की राह

असम के शिवसागर जिले के एक छोटे से गांव का लड़का आज हजारों लोगों के लिए रोल मॉडल बन गया है। कभी अवसाद और अकेलापन का शिकार रहे हिरण्यमोय गोगोई ने जीविका के लिए 10 रुपए से अपना बिजनेस शुरू किया था। लेकिन आज उसकी सफलता की हर तरफ चर्चा है।

गोगोई जब 15 साल के थे उनके भाई की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई। इससे पहले कई साल से बीमार उनकी मां का 2012 में ही निधन हो गया था। इन घटनाओं ने गोगोई को झकझोर कर रख दिया और वह इस दुनिया में खुद को अकेला महसूस करने लगे। उनके पिता काफी दिक्कतों का सामना करने के बाद एक तलाकशुदा महिला से शादी कर ली। हिरण्यमोय ने काफी समय तो इस दूसरी मां को अपनी मां मानने की कोशिश करता रहा है लेकिन बाद में पता चला कि मां तो सिर्फ मां ही हो सकती है।

गोगोई काफी दिन तक चिंतन मनन में डूबा रहा और फिर निर्णय लिया वह अपनी जिंदगी को यूं ही व्यर्थ नहीं जाने देंगे। एक दिन उनके मन मं 'गांव का खाना' नाम की वेबसाइट बनाने का आइडिया आया। आज 21 साल की उम्र में ही हिरण्यमोय एक सफल कारोबारी के रूप में उभरा है।

मां की याद में महिलाओं की मदद का जुनून

2016 में गोगोई ने 10 रुपए से अपना बिजनेस शुरू किया था। उसके पास शुरू में एक गैस सिलिंडर और एक स्टोव ही था। गोगोई पहले घर में खाना बनाकर शहर में लोगों को खाना पहुंचाता और फिर शहर में ही गांव का खाना बनाना शुरू कर दिया। धीरे धीरे धंधे मे जब फायदा होने लगा तो उसे अपने बिजने को ऑनलाइन करने का आइडिया आया। उन्होंने इसके बाद गांव का खाना नाम से मोबाइल एप तैयार कराया जिसकी मदद से शहर के लोग शुद्ध और ऑर्गैनिक खाना सीधे गांवों से मंगा सकते हैँ।

गोगोई को सरकार द्वारा इन्टरप्रिन्योर अवार्ड 2017 से भी नवाजा गया है जो कि छोटे छोटे और उभरते हुए बिजनेस के लिए दिया जाता है। गोगोई के 'गांव का खाना' से किसानों को भी जोड़ा गया है। इसकी मदद से किसान अपनी केमिकल रिहत सब्जियां सीधे ग्राहकों को बेच सकते हैं। लोग एप में जाकर इलाके और वहां पर मौजूद किसान का नंबर पा सकते हैं और अपना ऑर्डर बुक कराकर जरूरी सब्जी या अन्य चीज मंगा सकते हैं। किसानों से इस एवज में सिर्फ एक रुपए महीने की फीस ली जाती है।

मां की याद में महिलाओं की मदद-
गोगाई ने मीडिया को बताया कि वह अपनी मां की याद में कुछ ऐसा करना चाहता है कि जिन पिरस्थितियों में उनकी मां का निधन हुआ वैसे किसी और महिला को न देखना पड़े। 'गांव का खाना' आइडिया का उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं और किसानों को रोजगार देना भी है।

एक वेबसाइट के मुताबिक न्यूगटेक नाम की मल्टी सर्विस प्रोवाइडर कंपनी ने हिरण्यमोय गोगोई को अपनी कंपनी का सीईओ नियुक्त किया है। जो कि गोगाई सबसे कम उम्र के सीईओ बनने वालों में शामिल हो गए हैं।

हिन्दुस्तान से साभार

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।