धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

बुधवार, 30 अगस्त 2017

कटिहार और सिलीगुड़ी ट्रैक पर 15 दिनों के बाद फिर से चली ट्रेन


नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), कटिहार। बिहार में आई भीषण बाढ़ से ध्वस्त हुआ सुधानी रेल पुल से आखिरकार पंद्रह दिनों के बाद कटिहार और सिलीगुड़ी रूट के बीच
रेलवे संपर्क एक बार फिर से मंगलवार को बहाल हो गया। जिसपर पहले सिर्फ रेल इंजन और इसके बाद खाली मालगाड़ी चला कर देख लिया गया।
 इस दौरान डीआरएम सीपी गुप्ता समेत विभाग के प्रमुख अधिकारी भी उपस्थित थे। जिन्होंने गुजरती मालगाड़ी को देखकर राहत की सांस ली। गौरतलब है कि एक सितंबर से पूर्व में ही रेल मंत्रालय के निर्देश पर भाया कटिहार व मालदा से गुजरने वाली सभी ट्रेनों के परिचालन की हरी झंडी दे दी गई है।
डीआरएम श्री गुप्ता ने बताया कि पिछले एक पखवाड़े से पूर्वोत्तर भारत में रेल सेवा इस पुल की वजह से पूरी तरह ध्वस्त हो गई थी, जिससे रेल प्रशासन को अरबों का नुकसान हुआ है। छह दर्जन से ज्यादा लंबी दूरी और सवारी ट्रेन रद्द हुई, जबकि हजारों रेल यात्रियों को जहां-तहां समय काटकर फंसा रहना पड़ा।
 14 अगस्त को आई प्रलयंकारी बाढ़ ने इस रेल पुल को बुरी तरह ध्वस्त कर दिया था। इस कारण कटिहार मंडल से पूर्वोत्तर भारत के सात राज्यों को जाने वाली विभिन्न ट्रेनों का परिचालन रद्द हो गया था। रेल प्रशासन ने आशा जताई है कि खाली मालगाड़ी के बाद भरी हुई मालगाड़ी उसके पश्चात सवारी ट्रेन का इस पुल से परिचालन होगा।
 गौरतलब है कि एक सितंबर से पूर्व में ही रेल मंत्रालय के निर्देश पर भाया कटिहार व मालदा से गुजरने वाली सभी ट्रेनों के परिचालन की हरी झंडी दे दी गई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।