धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

मंगलवार, 29 अगस्त 2017

जस्टिस दीपक मिश्र बने भारत के 45वें प्रधान न्यायाधीश

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), नई दिल्ली : याकूब मेमन और दिल्ली दुष्कर्म कांड के दोषियों को फांसी की सजा देने वाले सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठतम न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्र
भारत के नए प्रधान न्यायाधीश बन गए हैं। सोमवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें पद की शपथ दिलाई। जस्टिस मिश्र भारत के 45वें प्रधान न्यायाधीश हैं। शपथ ग्रहण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दीं। जस्टिस मिश्र की पीठ ने ही सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाने, स्क्रीन पर तिरंगा लहराने और उस दौरान दर्शकों के खड़े रहने की अनिवार्यता का आदेश दिया था।
सोमवार को राष्ट्रपति भवन के दरबार हाल में आयोजित समारोह में राष्ट्रपति ने जस्टिस मिश्र को पद की शपथ दिलाई। जस्टिस दीपक मिश्र का प्रधान न्यायाधीश पद पर कार्यकाल करीब 13 महीने का है। वह 2 अक्टूबर 2018 में सेवानिवृत्त होंगे। 13 अक्टूबर 1953 को ओडिशा के खुर्दा जिला के वाणपुर गांव में जन्मे जस्टिस दीपक मिश्र 14 फरवरी 1977 को वकील के तौर पर पंजीकृत हुए थे। वह 17 जनवरी 1996 को ओडिशा हाई कोर्ट में अतिरिक्त न्यायाधीश नियुक्त हुए और 3 मार्च 1997 को उनका मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में स्थानांतरण हो गया। 19 दिसंबर 1997 को वह स्थायी न्यायाधीश नियुक्त हुए। 23 दिसंबर 2009 को वह पटना हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश नियुक्त हुए और 24 मई 2010 को दिल्ली हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश बने। 10 अक्टूबर 2011 में वह सुप्रीम कोर्ट में प्रोन्नत हुए और सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश बने। जस्टिस मिश्र करीब छह साल से सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।