धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

शुक्रवार, 25 अगस्त 2017

सृजन हेतु सोमवार तक सीबीआई आने की संभावना

पटना: बिहार के बहुचर्चित सृजन महाघोटाले की जांच करने के लिये सीबीआई के अधिकारियों के सोमवार तक भागलपुर पहुंचने की संभावना है. जिसके पहुंचते ही वह इस महाघोटाले की जांच जल्द ही शुरू कर देगी. राज्य सरकार ने पिछले हफ़्ते ही इस घोटाले की जांच CBI से करवाने का फैसला लिया है. इधर राज्य सरकार के इस फ़ैसले के बाद भी सीबीआई के आने तक बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई द्वारा जांच जारी है.

इस बीच भागलपुर की एक कोर्ट ने इस मामले के मुख्य आरोपियों, अमित कुमार, उनकी पत्नी प्रिया कुमार, भाजपा नेता विपिन शर्मा और उनकी पत्नी,  राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के दीपक वर्मा और उनकी पत्नी समेत सृजन के कई पदाधिकारियों के ख़िलाफ़ वॉरंट जारी किया है. अमित और प्रिया इस घोटाले की मास्टमाइंड कही जाने वाली मनोरमा देवी के बेटा और बहू हैं. प्रिया, झारखंड कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अनाड़ी ब्रह्म की बेटी हैं. क़रीब दो हफ़्ते से चल रही जांच के बाद बिहार पुलिस का कहना है कि इस मामले में भागलपुर में पदस्थापित 13 जिलाधिकारियों और 6 उप विकास आयुक्त से पूछताछ की जाएगी.

वहीं, इस बीच तेजस्वी यादव ने ट्वीट करके कहा कि सृजन घाटोले के किंगपिन नवीन की भी भागलपुर में मौत हो गई है जोकि मनोरमा देवी का विश्वासपात्र सहयोगी था. उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा कि उसका लैपटॉप भी गायब है.

अभी तक की जांच में कुछ पूर्व ज़िला अधिकारियों जैसे पी. रमाया जिन्होंने सृजन में पैसा जमा करने का पहला आदेश दिया और वीरेंद्र यादव जिनके 14 महीने के कार्यकाल में सर्वाधिक 287 करोड़ रुपये की यह बंदरबांट हुई, सबसे ज़्यादा शक के घेरे में हैं. फ़िलहाल इस मामले में 14 प्राथमिकी दर्ज हुई हैं जिसमें ग़बन की राशि क़रीब 1059 पहुंच गयी हैं. जांच में जहां सृजन द्वारा अपने सदस्यों से ही सूद पर ऋण देने के सबूत मिले हैं वहीं स्वयमसेवी संस्था को सरकार से मिलने वाला अनुदान का भी ग़बन किया गया बताया जा रहा है.

इसके अलावा अब सेवा से बर्खास्त हो चुकी जयश्री ठाकुर को एसयूवी गाड़ी ख़रीदने के लिए क़र्ज़ दिया गया, वहीं कुमार अनुज नामक अधिकारी को उनकी पत्नी के नाम पर मोटरसाइकल ख़रीदने के लिए क़र्ज़ दिया गया. विपिन शर्मा को अधिकारिक रूप से 40 लाख रुपये दिया गया.

जहां इस घोटाले की क़रीब 40 प्रतिशत राशि वापस बैंकों के माध्यम से दी गई, वहीं पुलिस का कहना है कि 500 करोड़ रुपये से अधिक की राशि के बारे में फ़िलहाल गिरफ़्तार 18 लोगों में से कोई नहीं बता रहा कि यह पैसा कहां गया. जांच एजेंसियों को भरोसा है कि अमित और प्रिया की गिरफ़्तारी से ही इसके बारे में पता चल पाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।