धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

मंगलवार, 29 अगस्त 2017

भाई ने भाई को, दादा ने पोते को और मामा ने भांजे को दी मुखाग्नि

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), नारायणपुर/ नवगछिया। भागलपुर जिले के नवगछिया अनुमंडल अंतर्गत बिहपुर प्रखंड के नन्हकार गंगाघाट पर सोमवार को उस समय अभूतपूर्व हृदय विदारक दृश्य
उपस्थित हो गया जब कोरचक्का गांव के एक साथ नौ बच्चों की चिताएं जलीं। इससे पूर्व कोरचक्का गांव से जैसे ही नौ बच्चों की शवयात्र निकली पूरा गांव चीत्कार उठा। हादसे में अपने बेटों को खो चुकीं माताएं रोती रहीं। बोलीं, हे भगवान हमें किस जुर्म की सजा मिली, हमसे हमारे बच्चों को क्यों छीन लिए। जान ही लेनी थी तो हमारी जान ले लेते। रोती-बिलखती कई माताओं की हालत तो इतनी बिगड़ गई कि बिहपुर पीएचसी से मेडिकल टीम बुलानी पड़ी। सभी महिलाओं का प्राथमिक उपचार किया गया और दवाइयां दी गईं। गांव से निकली नौ बच्चों की अंतिम यात्रा में नम भरी आंखों के साथ सैकड़ों लोग शामिल हुए।
किसने किसको दी मुखाग्नि: आंसुओं के सैलाब के बीच गंगाघाट पर जहां भीखन साह के पुत्र सौरव साह की चिता को उसके छोटे भाई कृष्ण कुमार ने मुखाग्नि दी। वहीं शिवनंदन यादव के पुत्र निरंजन यादव को उसके छोटे भाई राजकुमार यादव ने मुखाग्नि दी। विवेकानंद सिंह के दोनों पुत्र छोटू व बिट्टू की चिताओं को उसके भाई सन्नी ने मुखाग्नि दी। जबकि बबलू सिंह के पुत्र राहुल को उसके साठ वर्षीय दादा विंदेश्वरी कहार व अंकेश की चिता को उसके 85 वर्षीय दादा वकील कहार ने मुखाग्नि दी। इसी दौरान विशाल की चिता को 65 वर्षीय उसके मामा दिलीप सिंह और सौरव की चिता को उसके चचेरे भाई धर्मवीर ने मुखाग्नि दी। गंगाघाट पर एसडीओ के निर्देश पर मजिस्ट्रेट के रूप में बीसीओ यशवंतनारायण सिंह की तैनाती थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।