धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

शुक्रवार, 4 अगस्त 2017

‘लोकतंत्र का गालीतंत्र, कुछ नहीं मिला तो मेरे नाम से फेक बयान गढ़ दिया’

पटना/ नईदिल्लीः नीति आयोग के उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया इस्तीफा मामले में पीएम नरेंद्र मोदी का टारगेट करने के बाद अब मशहूर पत्रकार रवीश कुमार ने एक और हमला बोला है. रवीश कुमार ने
अपने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखते हुए लोकतंत्र में बढ़ रहे गालीतंत्र पर अटैक किया है. उन्होंने अपने इस पोस्ट में उन सभी आरोपों का खंडन किया है जिसको लेकर उन पर हमला बोला जा रहा है. आगे पढ़ें रवीश कुमार के शब्दों में-    
लोकतंत्र का गालीतंत्र. कुछ नहीं मिला तो मेरे नाम से फेक बयान गढ़ दिया. मैंने जो कहा नहीं उसे मेरे नाम से चलाने लगे हैं. पढ़ने वाले भी मान लेते हैं कि मैंने ही कहा होगा. बात इन सबको भाव देने की नहीं है, मैं देता भी नहीं, यहां इसलिए लिख रहा हूं क्योंकि एक रिकार्ड रहे कि मैंने नहीं कहा है. पता चलता है कि भाई लोग कितनी मेहनत कर रहे हैं.
रवीश कुमार पर लगा था यह आरोप
उन्होंने आगे लिखा है कि ”मैं कौन होता हूं कि किसी के जनादेश को चुनौती देने वाला. इन्हीं सब हरकतों के कारण कई लोग मेरे बारे में धारणा भी बना लेते हैं. यह सही है कि कितने प्रोपेगैंडा को एक्सपोज़ करेंगे और गालीतंत्र वाले जितने लोगों तक पहुंचा देंगे, वहां तक तो मैं नहीं पहुंचा सकता. मगर आजकल ये वाला काफी चल रहा है इसलिए ज़रूरी लगा बताना कि मैंने ये नहीं कहा है. रही बात टीआरपी की तो मैं दुनिया का पहला ज़ीरो रेटिंग एंकर हूं. दो परसेंट तो बहुत हुआ! टी आर पी का चुनाव नहीं लड़ता भाई. ज़ीरो रेटिंग होने पर तो इतना भाव देते हैं ये गालीतंत्र वाले. इसका मतलब है कि नंबर वन सिर्फ रवीश कुमार है! बाकी सब ज़ीरो.”

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।