धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

गुरुवार, 17 अगस्त 2017

तेजस्वी यादव पर देशद्रोह का मुकदमा, वंदे मातरम का अपमान करने का आरोप

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN): आज दरभंगा से बड़ी खबर आ रही है. वहां पर ​पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव पर राष्ट्रदोह का मुकदमा दर्ज किया गया है.
वंदे मातरम को अपमान करने का आरोप लगाते हुए दरभंगा की स्थानीय अदालत में परिवाद दायर किया गया है. इसे लेकर बिहार के पॉलिटिकल कॉरिडोर में जबर्दस्त चर्चा है.
बताया जाता है कि नेता प्रतिपक्ष व पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव समेत दो लोगों पर वंदे मातरम के अपमान को लेकर दरभंगा की स्थानीय अदालत में एक परिवाद दायर किया गया है. यह परिवाद जदयू तकनीकी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष इकबाल अंसारी ने दायर कराया है.
आवेदक अंसारी ने सीजेएम की कोर्ट में दायर अपनी याचिका में कहा है कि 13 अगस्त, 2017 को पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने एक विवादित ट्वीट कर राष्ट्रगीत का अपमान किया है. याचिका में यह भी कहा गया है कि उमाशंकर सिंह नामक एक व्यक्ति के ट्वीट “बन्दे मारते हैं हम” की लिंक को अपने ट्विटर एकाउंट में शामिल करते हुए तेजस्वी यादव ने इसका न केवल समर्थन किया है, बल्कि ट्वीट कर कहा है कि “सही कहा इनका ‘वंदे मातरम’ = बंदे मारते हैं हम”.
इस प्रकार के ट्वीट से राष्ट्रप्रेमियों को गहरा दुःख हुआ एवं ट्विटर पर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. एक पूर्व उपमुख्यमंत्री के ऐसे राष्ट्रविरोधी ट्वीट से यह बात साबित हो जाता है कि इनको अपना राजनीतिक स्वार्थ साधने के लिए न तो राष्ट्र के सम्मान की चिंता है और न ही राष्ट्र की छवि की. याचिका में यह भी कहा गया है कि इस ट्वीट की इतनी आलोचना होने के बाद भी तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट पर माफी नहीं मांगी है. तब अंत में हमें न्यायालय का सहारा लेना पड़ा.
परिवाद पत्र में तेजस्वी यादव व उमाशंकर सिंह को अभियुक्त बनाया गया है. इन दोनों पर भारतीयों व भारतीयता का मज़ाक उड़ाने का भी आरोप है. इन दोनों के खिलाफ राष्ट्रद्रोह की धारा 124 (A), 120 (B) भारतीय दंड विधान, 501 (B) भारतीय दंड विधान, प्रिवेंशन ऑफ इंसल्ट टू नेशनल ऑनर एक्ट 69 (1971) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।