धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

शुक्रवार, 11 अगस्त 2017

सांसद अश्विनी चौबे पहुंचे मुकेश पांडेय के घर, कहा- मैं बेहद आहत हूँ, यह बड़ी क्षति है

बक्सर : बक्सर के जिलाधिकारी मुकेश पाण्डेय की आत्महत्या की खबर से पूरा देश सन्न है. बिहार में शोक की लहर दौड़ गई है. उनके परिजनों के आंसू नहीं थम रहे. घर में कोहराम मचा है. इस शोक की घड़ी में
हर कोई उनके परिजन को संभाल रहा है. सांत्वना देने की कोशिश की जा रही है. लेकिन परिवार में एक होनहार बेटे को खो देने का दर्द बहुत तेज है. देर रात इस आत्महत्या की खबर मिलते ही उनके परिजन से मिलने बक्सर के सांसद अश्विनी चौबे उनके घर पहुंचे. जहां उन्होंने परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत से काम लेने की सांत्वना दी.
अश्विनी चौबे ने परिजन से मिलने के बाद कहा कि मुझे यकीन नहीं हो रहा कि इतना होनहार और समझदार एक अधिकारी ने आत्महत्या का रास्ता कैसे चुन लिया ? यह देश को बहुत बड़ी क्षति है. और मैं इससे बेहद आहत हूँ.
बता दें कि आईएएस अधिकारी मुकेश पांडेय 2012 बैच के IAS अफसर थे. बिहार के ही रहनेवाले हैं. आत्महत्या के पहले मुकेश पांडेय ने अपना सुसाइड नोट नई दिल्ली के चाणक्यपुरी में स्थित 7 स्टार होटल लीला के कमरा संख्या 742 में छोड़ा था. बाद में वे अपना मोबाइल जनकपुरी इलाके में छोड़ आये थे.
दिल्ली पुलिस के एक आला अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक जांच से यह पता चलता है कि IAS मुकेश पांडेय बुधवार को नई दिल्ली आये थे. बताते चलें कि मुकेश पांडेय ने जिलाधिकारी के रूप में पहली पदस्थापना पिछले ही हफ्ते बक्सर में प्राप्त की थी. इसके पहले वे कटिहार में DDC के पद पर तैनात थे. 
दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि जांच से यह बात मालूम हो रही है कि पाण्डेय का अपने घर वालों से तनाव चल रहा था. न पत्नी खुश थी, और न ही घरेलू झगड़े से अभिभावक. ऐसा इसलिए कि आज मुकेश पांडेय ने आत्महत्या करने जाने के पहले अपने घर टेलीफोन से एक संदेशा भेजा था. इस संदेशे में उन्होंने जिन्दगी से तंग आ जाने और अच्छाई से विश्वास उठ जाने की बात की थी. साथ में, यह भी बता दिया था कि वे दिल्ली में आत्महत्या करने जा रहे हैं. इस सन्देश के मिलते ही परिवार वाले बेचैन हो गए थे. फिर बिहार से किसी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने दिल्ली पुलिस को संपर्क साधा और मदद करने को कहा.
दिल्ली पुलिस ने कार्रवाई घर भेजे गए संदेशे के आधार पर ही शुरू की. इस संदेशे में यह भी लिखा था कि मैं अपना सुसाइड नोट दिल्ली के होटल लीला पैलेस के रूम नंबर 742 में छोड़ दूंगा. दिल्ली पुलिस संदेशे के आधार पर लीला पैलेस पहुंची. कमरे में IAS मुकेश पांडेय का सुसाइड नोट मिल गया. आगे जानकारी यह जुड़ती गई कि वे जनकपुरी इलाके के होटल पिकाडिली के करीब में छत से कूद कर जान दे देंगे.
इसके बाद दिल्ली पुलिस दौड़ी-दौड़ी जनकपुरी में बताए स्थान पर गई. लेकिन यहां किसी के आत्महत्या करने की कोई निशानदेही नहीं मिली. लेकिन मोबाइल प्राप्त हो गया. पुलिस ने अब आगे की जांच शुरू की. दिल्ली में सबों को अलर्ट किया गया. तभी गाजियाबाद रेल पुलिस से खबर मिली कि एक व्यक्ति ने ट्रेन से कटकर जान दे दी है. व्यक्ति देखने में ठीकठाक लग रहा है लेकिन चेहरा इतना विक्षिप्त है कि पहचान नहीं की जा सकती.
दिल्ली पुलिस के अधिकारी भागे-भागे गाजियाबाद पहुंचे. मिली लाश की शिनाख्त IAS मुकेश पांडेय के रूप में ही हुई. यहां भी मुकेश पांडेय ने एक ऐसा पुर्जा छोड़ दिया था, जिससे उनकी पहचान हो जाती. शव को देखने से पता चला कि आत्महत्या करने के लिए IAS मुकेश पांडेय ने अपने सिर को पटरी पर रख दिया था. खबर लिखे जाने तक शव को पोस्टमार्टम में भेजे जाने की तैयारी की जा रही थी.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।