धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

सोमवार, 21 अगस्त 2017

सृजन महाघोटाला: जेल में प्रताड़ित किया जा रहा था नाजिर महेश मंडल को?

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN): सृजन महाघोटाले में आरोपी नाजिर महेश मंडल की मौत के बाद से हड़कंप मचा हुआ है. उनका परिवार सदमे में है. नाजिर महेश मंडल के
परिजनों ने जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप भी लगाये हैं. साथ ही सृजन घोटाले के कई राज अपने अंदर समेटे नाजिर महेश मंडल की मौत से इस जांच पर भी असर पड़ने की बात कही जा रही है.
मंडल की मौत से गुस्साए उनके परिजनों ने अस्पताल में भी खूब हंगामा किया. नजीर महेश मंडल के परिजनों ने जेल प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि महेश मंडल के स्वास्थ्य का ठीक से ख्याल नहीं रखा गया.. उन्हें लगातार प्रताड़ित किया जा रहा था. जिस कारण प्रशासन की लापरवाही के कारण उनकी मौत हुई है.
बता दें कि एक हजार करोड़ रुपये के सृजन घोटाले में बीते रविवार को गिरफ्तार नाजिर महेश मंडल की रविवार देर रात भागलपुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मौत हो गई. जेल में ही हालत बिगड़ने पर उसे रात 8.30 बजे मेडिकल कॉलेज अस्पताल लाया गया था.
नाजिर महेश मंडल की किडनी खराब थी. उसका इलाज पहले से ही मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में चल रहा था. महेश मंडल ने गिरफ्तारी के दो दिन पहले ही डायलिसिस कराई थी. गिरफ्तारी के बाद पूछताछ के दौरान भी मंडल को डायलिसिस की जरूरत पड़ी थी. पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच मशाकचक स्थित एक निजी अस्पताल में उसे भर्ती कराया था, जहां उसका डायलिसिस किया गया था. इस दौरान नाजिर के परिवार के कई लोग मौजूद थे.
जांच पर भी पड़ सकता है असर
सृजन घोटाले में नाजिर महेश मंडल की गिरफ्तारी बड़ी सफलता मानी जा रही थी. महेश मंडल भागलपुर जिला कल्याण पदाधिकारी के दफ्तर में नाजिर के पद पर पोस्टेड थे. इनसे चल रही लगातार पूछताछ से बड़े खुलासे की भी उम्मीद थी. लेकिन गिरफ्तारी के महज 8 दिनों के बाद ही उनके मौत से जांच पर असर पड़ने की बात कही जा रही है.
इधर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सृजन घोटाले में सीबीआई जांच के आदेश दे दिए हैं. वहीं इनकम टैक्स भी इससे संबंधित बैंकों के लेन-देन  की जांच करेगा. भागलपुर का सृजन घोटाला आयकर विभाग के रडार पर भी है. विभाग एनजीओ सृजन व उससे संबंधित लोगों को नोटिस भेजेगा. इस माह के अंत तक सभी लोगों को नोटिस भेजा जाएगा. अधिकारिक सूत्रों के अनुसार आयकर घोटाले की जांच में हस्तक्षेप नहीं करेगा.लेकिन सृजन के खाते से कई बैंकों में पैसे का जो लेनदेन हुआ है, उसको लेकर विभाग पड़ताल करेगा। सृजन के खाते में 18 करोड़ रुपये होने की सूचना मिली है. आयकर विभाग यह जानना चाहता है कि आखिर इतनी बड़ी राशि कहां से आई. आशंका है कि यह काला धन है.ऐसे समय में करोड़ो के मालिक नाजिर माहेश मंडल की मौत से सृजन घोटाले की जांच की दिशा भी मुड़ सकती है.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।