धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

गुरुवार, 14 सितंबर 2017

जोगबनी स्टेशन से शुरू हुआ ट्रेनों का परिचालन, बेतिया में भी एक माह बाद आयी ट्रेनें


नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), जोगबनी/ बेतिया : बाढ़ के कारण कटिहार-जोगबनी रेलखंड पर बथनाहा व जोगबनी के बीच रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण करीब एक माह से यात्री परेशान थे. हर रोज हजारों यात्रियों की बदौलत अपनी दुकान चलाकर परिवार का भरण पोषण करनेवाले व्यवसायी भी खासे परेशान थे. सोमवार को जब सीमांचल एक्सप्रेस जोगबनी पहुंची, तो इन व्यवसायियों के चेहरे पर खुशी लौट आयी. जोगबनी स्टेशन रोड के दुकानदार सहित टेक्सी चालक खुशी से झूम उठे.

दिल्ली जानेवाली सीमाचंल एक्सप्रेस के जोगबनी स्टेशन पहुंचने पर खुशी का इजहार करते हुए होटल व्यवसायी कमलदेव सिंह ने कहा कि एक महीने से ट्रेनों का परिचालन बंद रहने से व्यवसाय में काफी नुकसान हो रहा था. उन्होंने कहा कि हमारा व्यवसाय ट्रेनों से आनेवाले यात्रियों पर ही निर्भर रहता है. ऐसे में ट्रेनों का परिचालन ठप रहने से होटल चलाना मुश्किल हो रहा था. ट्रेन का परिचालन शुरू होने से इनके चेहरे पर लौटी खुशी स्पष्ट दिख रही थी.

स्टेशन रोड के गणेश मिष्ठान्न भंडार के आशीष शर्मा ने बताया कि हमारी दुकानदारी का पचास प्रतिशत ट्रेनों से आनेवाले यात्रियों पर ही टिकी रहती है. ट्रेनों के परिचालन बंद होने से हमारा व्यवसाय घट कर आधा हो गया था.

टैक्सी चालक राजू मंडल ने बताया कि ट्रेनों का परिचालन बंद होने से हमारे लिए तो भुखमरी की समस्या उत्पन्न हो गयी थी. उनकी कमाई का मुख्य जरिया ट्रेनों से आनेवाले यात्रियों को नेपाल तक छोड़ना है. भारतीय क्षेत्र के अधिकतर मरीज अपनी आंखों का इलाज करने के लिए विराटनगर पहुंचते हैं. इसके अलावा नेपाल घूमनेवाले सैलानियों को भी विराटनगर जाने के लिए टैक्सी का सहारा लेना पड़ता है. ट्रेन के परिचालन बंद रहने के कारण टैक्सी चालकों की आमदनी तो घट ही गयी थी. साथ ही उनके समक्ष भुखमरी की स्थिति उत्पन्न हो गयी थी.

ट्रेन की सीटी सुन कर सबसे ज्यादा खुश ट्रैक्सी चालक ही नजर आ रहे थे. वहीं, स्टेशन रोड में चाय की दुकान चला कर गुजारा करनेवाले नीरज राय ने बताया कि एक तो बाढ़ से घर का सारा सामान बरबाद हो गया, ऊपर से ट्रेन का परिचालन भी बंद था. इस कारण होनेवाली आय का जरिया भी बंद हो गया था. लेकिन, अब ट्रेन का परिचालन शुरू होने के बाद इइन व्यवसायियों की जिंदगी एक बार फिर से पटरी पर लौट आयी है.

आनंद विहार व बांद्रा के लिए 30 दिन बाद चलीं ट्रेनें

बेतिया जिले में आयी प्रयलंकारी बाढ़ के कारण मुजफ्फरपुर-गोरखपुर रेलखंड पर पूरी तरह से रेल परिचालन बंद हो गया था. एक माह बाद पुन: इस रेलखंड पर रेल गाड़ियों का परिचालन मंगलवार से शुरू हो गया. मुजफ्फरपुर से आनंद विहार जानेवाली सप्तक्रांति सुपर फास्ट  व मुजफ्फरपुर से बांद्रा जानेवाली अवध एक्सप्रेस अपने गंतव्य स्थान की ओर प्रस्थान की. वहीं, आनंद विहार से चल कर मुजफ्फरपुर जाने वाली संप्तक्रांति भी बेतिया स्टेशन पर पहुंची. एक माह के बाद लंबी दूरी तक जानेवाली गाड़ियों के परिचालन शुरू होने से बेतिया रेलवे स्टेशन पर भारी संख्या में यात्रियों की भीड़ उमड़ी रही. आलम यह रहा कि दोनों गाड़ियों में काफी भीड़ का नजारा देखा गया. डीआरएम ने मरम्मत किये गये रेलवे लाइन का निरीक्षण भी किया.

बता दें कि 13 अगस्त को आयी बाढ़ में नरकटियागंज से हरिनगर स्टेशन के बीच रेलवे लाइन बाढ़ के पानी में बह गयी थी. पानी हटते ही रेलवे ने इस रेलखंड पर ट्रेनों के परिचालन की खातिर दिन-रात 400 मजदूरों को काम पर लगाया था. रेलवे लाइन मरम्मत कार्य का डीआरएम ने भी निरीक्षण किया था. इस रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन बंद  होने से 1 करोड़ 3 लाख के राजस्व की हानि रेलवे विभाग को हुई है.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।