धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

रविवार, 3 सितंबर 2017

और अब सुरेश प्रभु ने भी दिया इस्तीफा, ये हो सकते हैं नए रेल मंत्री

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN) : इस समय दिल्ली से एक बड़ी खबर आ रही है. मोदी कैबिनेट में रेल मंत्रालय संभाल रहे सुरेश प्रभु ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने नए मंत्रिमंडल के शपथग्रहण के तुरंत बाद
अपने पद से इस्तीफा दे दिया. इस्तीफे के बाद उन्होंने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए कहा कि तेरह लाख से ज्यादा बड़े रेल परिवार को प्यार और समर्थन के लिए धन्यवाद, उन्होंने सभी को शुभकामनाएं दीं. साथ ही मंत्रिमंडल में प्रमोट हुए चार मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान, पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमण और मुख्तार अब्बास नकवी समेत सभी नए राज्यमंत्रियों को शपथ लेने पर बधाई दी.
बता दें कि हाल ही में हुई तमाम रेल हादसों के बाद से सुरेश प्रभु की क्षमताओं पर सवाल उठने लगे थे. ऐसी भी खबरें आईं थीं कि सुरेश प्रभु का कार्यकाल बतौर रेलमंत्री सबसे खराब रहा है.
आजादी के बाद से उन्हीं के कार्यकाल में सर्वाधिक रेल हादसे भी हुए थे. ये सारे बातें उठने आने के बाद ही खुद सुरेश प्रभु ने भी अपने इस्तीफे की पेशकश कर दी थी. उस वक्त पीएम मोदी ने उन्हें अभी रुकने और सही वक्त का इंतजार करने के लिए कहा था.
अब खबर आ रही है कि आज कैबिनेट मंत्री की शपथ लेने वाले पीयूष गोयल ही अगले रेल मंत्री हो सकते हैं. उनके नाम की चर्चाओं के बीच रेल मंत्री सुरेश प्रभु को भी नई जिम्मेदारी देने की चर्चा हवा में है. सुरेश प्रभु को भले ही रेल दुर्घटनाओं के कारण इस्तीफा देना पड़ा हो, लेकिन उन्हें पब्लिक का रेल मंत्री हमेशा कहा जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।