धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

गुरुवार, 7 सितंबर 2017

सृजन महाघोटाला : CBI ने की PNB अधिकारियों से भी पूछताछ, हो सकते हैं नये खुलासे


नव-बिहार न्यूज नेटवर्क (NNN), भागलपुर : सृजन महाघोटाले मामले में बुधवार को सीबीआई ने पीएनबी के अधिकारियों से भी पूछताछ की. कल्याण विभाग के छह करोड़ के चेक को लेकर अधिकारियों से जानकारी मांगी. दूसरी ओर जिला समाहरणालय में सभी विभागों के बैंक खातों की जांच जिला प्रशासन के निर्देश पर शुरू कर दी गयी है. आशंका है कि और भी कई खाते हो सकते हैं, जिनमें जमा धन की अवैध तरीके से निकासी कर ली गयी हो और संबंधित विभाग को उसका पता न हो. सृजन द्वारा सरकारी राशि की बैंक खातों से अवैध तरीके से की गयी निकासी मामले में कई बड़े नामों के खुलासे हो सकते हैं. सूत्र बताते हैं कि सीबीआई की जांच मामले के मास्टरमाइंड की खोज में आगे बढ़ चुकी है.

 

जानकारी के अनुसार कल्याण विभाग ने पंजाब नेशनल बैंक की बरारी शाखा (भागलपुर) में 30 मार्च, 1989 को खाता (खाता संख्या 1200002100000734) खोलवाया था. उस खाते का छह करोड़ का चेक 08 नवंबर, 2016 को जिला कल्याण पदाधिकारी ने काटा और इसी दिन इस चेक को कल्याण पदाधिकारी के पदनाम से बैंक ऑफ बड़ौदा में खुले नये खाते में जमा करने के लिए भेजा गया. बैंक ऑफ बड़ौदा को उक्त चेक कल्याण विभाग के नाजिर महेश मंडल ने प्राप्त कराया था. 

 

पूर्व में बैंक से कल्याण विभाग को जो बैंक स्टेटमेंट दिया गया था, उसमें उक्त छह करोड़ के जमा होने की बात अंकित थी. लेकिन जब घोटाले की परतें खुलने लगी और कल्याण विभाग ने भी अपडेट बैंक स्टेटमेंट बैंक ऑफ बड़ौदा से 10 अगस्त, 2017 को मंगाया, तो उसमें छह करोड़ जमा हुई तिथि को बैलेंस शून्य दिखाया गया था. 

 

इसके बाद जब छह करोड़ के चेक की जांच करायी गयी, तो उक्त चेक के पिछले पृष्ठ पर मनोरमा देवी का हस्ताक्षर मिला और उसके नीचे सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड की मुहर लगी थी. फिर इस आशंका पर मुहर लग गयी कि छह करोड़ के चेक की राशि बैंक ऑफ बड़ौदा के सरकारी खाते में जमा न होकर सृजन के खाते में ट्रांसफर हो गयी. 

 

यही नहीं, पूर्व में जो बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा बैंक स्टेटमेंट उपलब्ध कराया गया था, वह फर्जी निकला. ज्ञात हो कि छह करोड़ का चेक बैंक ऑफ बड़ौदा को प्राप्त करानेवाले नाजिर महेश मंडल पिछले महीने गिरफ्तार कर लिये गये थे. उनकी मौत बीमारी की वजह से हो चुकी है. तत्कालीन जिला कल्याण पदाधिकारी अरुण कुमार जेल में बंद हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।