धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

मंगलवार, 17 अक्तूबर 2017

पैसेंजर ट्रेन में शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी आग, टला हादसा


गया पटना पैसेंजर ट्रेन
नव-बिहार न्यूज नेटवर्क, गया। मंगलवार की सुबह सुबह ट्रेन नंबर 63244 गया-पटना मेमू पैसेंजर ट्रेन बर्निंग ट्रेन बनने से बच गयी। जिसमें शार्ट सर्किट से आग लग गई थी।
आग की खबर लगते ही ट्रेन को गया से आगे चाकन्द स्टेशन पर रोका गया। त्वरित कार्रवायी करते हुए तत्काल रेलवे मेंटेनेंस की टीम को उसे ठीक करने में लगाया गया।
मंगलवार सुबह ट्रेन गया से चलकर पटना जा रही थी कि तभी गया से आगे चाकन्द स्टेशन पर लोगों को ट्रेन से धुआं निकलता हुआ दिखाई दिया। इसकी जानकारी तुरंत रेलवे को दी गई। वहां मौजूद यात्रियों ने ट्रेन के नीचे से निकल रहे धुएं की जानकारी गार्ड और ड्राइवर को दी। 
ट्रेन में हुई शॉर्ट सर्किट की वजह से वायरिंग डैमेज हो गया था। इस वजह से मोटर काम नहीं कर रहा था, जिससे ट्रेन के अंदर लाइट और पंखा भी नहीं चल रहा था। करीब आधे घंटे से ज्यादा वक्त तक ट्रेन को रोके रहने के बाद उसे ठीक कर फिर से पटना के लिए रवाना कर दिया गया। 
इसके बाद ट्रेन को चाकन्द से आगे नियामतपुर हॉल्ट पर फिर से रोक दिया गया। प्राप्त जानकारी के मुताबकि ट्रेन का चक्का जाम होने की वजह से इसे फिर से रोका गया। ड्राइवर का कहना है कि चक्का पूरी तरह जाम हो गया है। यह ट्रैक को डैमेज कर सकता है। खबर लिखे जाने तक गया-पटना मेन लाइन पर परिचालन बाधित था। पलामू एक्सप्रेस को भी चाकन्द में रोका गया है।
लोगों का कहना था कि अच्छा हुआ कि ट्रेन में हुई शॉर्ट सर्किट की जानकारी तभी लग गई जब ट्रेन चाकन्द स्टेशन पर खड़ी थी। यदि ट्रेन स्टेशन से खुल जाती तो बर्निंग ट्रेन बन सकती थी।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।