धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

गुरुवार, 26 अक्तूबर 2017

सृजन का असर: वेतन के पहले बताना होगा सृजन से लोन लिया या नहीं

भागलपुर। सृजन महाघोटाले से जिला का कोई विभाग उबर नहीं पा रहा है। अब डीएम भागलपुर के निर्देशानुसार सभी पदाधिकारियों व कर्मियों को यह बताना होगा कि उनके या उनके किसी भी परिवारजनों ने सृजन से किसी भी प्रकार का लोन या अनुदान नहीं लिया है। इस आशय का प्रमाण पत्र निकासी व व्ययन पदाधिकारी के समक्ष सभी कर्मियों व पदाधिकारियों को देना होगा। यह प्रमाण पत्र डीडीओ स्थापना के वरीय उप समाहर्ता के समक्ष जमा करेंगे। वरीय उप समाहर्ता इसे संकलित कर डीएम के समक्ष रखेंगे। इसके बाद ही संबंधित विभाग का वेतन कोषागार से जारी होगा।

डीएम आदेश तितरमारे ने यह निर्देश सभी डीडीओ सहित नवगछिया व भागलपुर के कोषागार पदाधिकारी को दिया है। डीएम ने कहा है कि जिले के विभिन्न कार्यालयों में वित्तीय अनियमितता के बड़े मामले प्रकाश में आए हैं। जिनमें सरकारी धनराशियों को अवैध रूप से सरकारी खातों से सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड को स्थानांतरित किया गया है। जिला अंतर्गत कई व्यक्तियों जिनमें कई सरकारी सेवक भी शामिल हैं उनके द्वारा स्वयं अथवा अपने परिवारजनों को सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड का सदस्य बनाकर उससे विभिन्न प्रयोजनों के लिए ऋण प्राप्त किया है। डीएम ने निकासी व व्ययन पदाधिकारियों को यह सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी दी है कि वे अपने अधीनस्थ पदाधिकारियों व कर्मचारियों से स्व घोषणा प्राप्त कर लें कि वे सृजन से ऋण या अनुदान नहीं लिए हैं। जिन पदाधिकारियों व कर्मियों अथवा उनके परिवारजनों द्वारा अपने सेवाकाल में कभी ऐसा ऋण लिया गया है वो उसकी जानकारी समाहरणालय स्थित स्थापना के वरीय उप समाहर्ता को देंगे।

मालूम हो कि सृजन घोटाला उजागर होने के बाद डीएम ने जिला सहकारिता पदाधिकारी को यह निर्देश दिया था कि वे इसकी पड़ताल करें कि सृजन में कितने सरकारी कर्मियों व पदाधिकारियों या उनके रिश्तेदारों का खाता है। इन खातों का संचालन कब से हो रहा है। खातों में राशि के आधार पर कितने लोग सृजन संस्था से उपकृत हुए हैं। यह जानकारी डीसीओ के द्वारा अभी तक डीएम को नहीं दी गई है। सृजन संस्था में अभी इंवेंट्री बन रही है इसलिए सूची तैयार नहीं हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।