धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

शनिवार, 14 अक्तूबर 2017

खास खबर: जानिए नवगछिया के बारे में क्या बताया इस लड़की ने, बिहार आते ही सबसे पहले उससे मिलेंगे आमिर खान

नव-बिहार न्यूज नेटवर्क, नवगछिया/ पटना। सत्यमेव जयते से अपनी विशेष पहचान बनाने वाले अभिनेता आमिर खान ने बिहार की बेटी
शिल्पी सिंह को फोन कर उनके काम की तारीफ करते हुए कहा है कि वो बिहार आने पर सबसे पहले उनसे मुलाकात करेंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक शिल्पी बिहार की लड़कियों को आगे बढ़ाने की काम करती है और अब तक सैकड़ों लड़कियों को जिल्लत की जिंदगी से बाहर निकाल चुकी हैं और उनके काम के चर्चे बिहार के साथ साथ और भी राज्यों में हैं। जहां मजबूर लड़कियों को शिल्पी ने अपना हाथ बढ़ाते हुए मजबूरी से बाहर निकाला था। आइए जानते हैं शिल्पी के बारे में कुछ खास बातें।
कौन है शिल्पी सिंह
सबसे पहले आपको बताते चलें कि बिहार के कटिहार जिले की रहने वाली शिल्पी सिंह पढ़ाई लिखाई के बाद बिहार की बेटियों को बचाने के लिए एक तरह से आंदोलन शुरू किया है। इस आंदोलन के तहत उन्होंने सीमांचल के साथ कई जिलों में कम उम्र की लड़कियों की शादी को रोकना शुरू किया। अब तक शिल्पी ने लगभग 100 लड़कियों को नाबालिग अवस्था में शादी होने से बचाया है। हालांकि इस काम को लेकर कई बार लड़कियों के परिजन उनसे दुर्व्यवहार करने तथा गाली गलौज भी करने लगे थे लेकिन शिल्पी ने बढ़ते हौसले को कभी भी कम नहीं किया और लगातार लड़कियों की समस्या को लेकर लड़ाई लड़ती रहीं।
   
जिस्मफरोशी के दलदल से लड़कियों को बचाया
शिल्पी का कहना है कि सीमांचल इलाके में हर साल बाढ़ आती है और बाढ़ की वजह से गरीब घरों की मजबूर लड़कियों को दलाल बहला फुसलाकर अपने साथ ले जाते हैं तथा जबरदस्ती उन्हें जिस्मफरोशी के दलदल में धकेल देते हैं  ऐसे ही अब तक 500 लड़कियों को हमने जिस्मफरोशी के धंधे से मुक्त करवाया है और उन्हें फिर से नया जीवन जीने का रास्ता दिया है। अब उनमें से कुछ ऐसी भी लड़कियां हैं जो हमारा साथ दे रही है और पढ़ लिखकर अपने पैरों पर खड़ी है। नवगछिया में कैद कुछ लड़कियों को छुड़ाने के दौरान वहां के जिस्मफरोशी के दलाल के द्वारा मुझे जान से मारने की धमकी भी दी गई थी लेकिन हमारे मजबूत हौसलों के सामने वह हमारा कुछ भी नहीं कर पाए।
आमिर खान का फोन
शिल्पी के इन्हीं कामों से प्रभावित होकर अभिनेता आमिर खान ने उन्हें फोन करते हुए 4 मिनट तक बातचीत की और कहा कि आप जो काम कर रही है वह हमें बहुत अच्छा लगा। दूसरे की जिंदगी में परिवर्तन लाना वाकई में बहुत बड़ा काम है। शिल्पी के मुताबिक आमिर खान ने उनसे उनकी काम की जानकारी मांगी और बिहार आते ही सबसे पहले उनसे मिलने का वादा किया। शिल्पी ने कहा कि आमिर खान ने जैसे ही फोन पर कहा कि, 'हैलो, आई एम आमिर खान', मुझे लगा जैसे मेरा सपना पूरा हो गया हो। मुझे लगा कि मैं जिस मकसद के लिए कोशिश कर रही हूं वह मकसद आज सफल हो गया।
निजी जिंदगी में भी शिल्पी ने लड़ी लड़ाईयां
अपनी निजी लाइफ के बारे में बताते हुए शिल्पी सिंह का कहना है कि एक कार्यक्रम के दौरान उत्तर प्रदेश के रहने वाले आशीष कुमार से हमारी मुलाकात हुई थी और मुलाकात के बाद हम दोनों में प्यार हो गया था। जिसके बाद हम दोनों ने बिना दहेज की शादी कर ली। हालाकि आशीष के घर वाले दहेज के लिए कुछ दिनों तक हम लोगों से मनमुटाव करते रहे पर हमारे काम और रहन सहन को देख सब कुछ ठीक-ठाक हो गया। लेकिन अचानक हमारे पापा की मृत्यु हो गई जिसके बाद हम वापस अपने पापा के घर चले आएं क्योंकि हमारा कोई भाई नहीं था और तब से हम यहीं रह कर पापा के सपनों को पूरा कर रहे हैं। हमारे इस काम में हमारे पति का भी साथ है। क्योंकि हमेशा से ही लोग हमारे पापा के बारे में यह कहते थे कि तुम्हारा बेटा नहीं है और तुम्हारे काम को कौन बढाएगा इसीलिए अब हम अपने मायके में ही रहकर पापा के कामों को पूरा कर रही हूं और हमारे इस काम को कुछ लोग पसंद करते हैं तो कुछ लोग नापसंद भी करते हैं। अब तक हमारे कामों को कई राज्यों में पसंद किया गया है तथा हमें कई अवार्ड भी मिल चुके हैं।
News by vikrant kr (edited by rajesh kanodia)

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।