धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

रविवार, 17 दिसंबर 2017

नियम तोड़ने वाले कॉलेजों पर होगी कार्रवाई: प्रॉक्टर

नव-बिहार समाचार, भागलपुर। तिलकामांझी भागलपुर विवि के प्रॉक्टर सह परीक्षा प्रभारी प्रो. योगेंद्र ने कहा है कि अब से जो भी कॉलेज परीक्षा नियमों का उल्लंघन करेंगे या फेल छात्रों का फॉर्म भरवाकर विवि भेज देंगे उन पर कार्रवाई होगी। कॉलेजों के प्राचार्यों को कहा जाएगा कि वह खुद आकर छात्रों के लिए बात करें न कि छात्र को विवि भेजें।

उन्होंने ऐसा कदम उठाने की बात इसलिये कही कि तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के संबद्ध कॉलेजों ने नया कारनामा किया है। वह यह है कि जो छात्र पार्ट 1 और 3 में फेल हैं, उनका फॉर्म पार्ट 2 परीक्षा के लिए भरवा दिया है। भागलपुर विवि के परीक्षा विभाग की चेकिंग के दौरान यह गड़बड़ी सामने आई है।

इसका खुलासा तब हुआ जब छात्रों का एडमिट कार्ड कॉलेज नहीं पहुंचा तो कॉलेजों ने छात्रों को विवि भेजना शुरू किया। शनिवार को भी डीएसएन कॉलेज के छात्र भी एडमिट कार्ड के लिए पहुंचे। टीआर जांच में पाया गया कि छात्र पार्ट 1 में ही फेल थे, इसलिए पार्ट 2 का फॉर्म भरने के योग्य नहीं थे। कॉलेज ने परीक्षा नियमों का उल्लंघन कर फॉर्म भरवा दिया है।

2010 में रजिस्टर्ड छात्र का भी भरवाया फॉर्म

उपरोक्त मामले के अलावा संबद्ध कॉलेजों ने जो छात्र 2010 में रजिस्टर्ड हुए थे, उनका भी फॉर्म भरवा दिया। इसके अलावा 2011 में रजिस्ट्रेशन कराए छात्रों का फॉर्म भरवा दिया। परीक्षा नियंत्रक पवन कुमार सिन्हा ने बताया कि पार्ट 2 की होने वाली परीक्षा में 2013 में रजिस्ट्रेशन कराए छात्र परीक्षा दे सकते थे, लेकिन 2010 और 2011 में रजिस्ट्रेशन कराए छात्रों के परीक्षा देने का नियम नहीं है। जो छात्र बीए पार्ट 1 और पार्ट 3 में फेल हैं, उनका फॉर्म भी कॉलेजों ने भरवा दिया था, इसलिए सभी को रोक दिया है। टीआर चेकिंग के दौरान इस यह बात सामने आई। परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि 200 छात्र ऐसे हैं, जिनके एडमिट कार्ड नहीं भेजे गए हैं।

गलत तरीके से पैसे लेकर भरवाए गए फॉर्म

संबद्ध कॉलेजों ने छात्रों से पैसे लेकर फॉर्म भरवा लिए। विवि आने वाले छात्रों का कहना था कि उन्होंने परीक्षा के लिए फी जमा कर दिया है। इसके बाद भी उन्हें एडमिट कार्ड नहीं भेजा गया। जब हम परीक्षा फॉर्म नहीं भर सकते थे तो हमसे फी क्यों ली गई और परीक्षा दिलाने का वादा भी किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।