धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

बुधवार, 20 दिसंबर 2017

क्या आप जानते हैं? बीएचयू में चलायी जा रही है ज्योतिष ओपीडी

लखनऊ : बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में घर का मांगलिक दोष और कुंडली के दोष दूर करने के लिए ज्योतिष विभाग की ओर से हॉस्पिटल की तरह ओपीडी लगाई जा रही है। यहां ज्यादातर लोग अपनी पीड़ा, घर में मांगलिक दोष और विशेषतौर पर कुंडली का दोष दूर कराने के लिए लोग आसपास के कई जिलों से पहुंच रहे हैं। 

BHU परिसर में संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय की ओपीडी में दुख से पीड़ित मन का उपचार किया जा रहा। प्रतिदिन चलने वाली बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी की ज्योतिष ओपीडी में हर माह 50 के करीब लोग समस्याएं लेकर आते हैं। इनमें मांगलिक दोष के कारण शादी में रुकावट, कुंडली व आध्यात्मिक सहित जीवन से जुड़ी विभिन्न समस्याएं शामिल होती हैं। 

इस संकाय के ज्योतिष एवं कर्मकांड परामर्श केंद्र की ओपीडी में मांगलिक दोष संग सभी तरह की कुंडली के दोष, रत्न, ग्रहण के मामले में भी विशेषज्ञ परामर्श देते हैं।

ज्योतिष विभाग के एक चिकित्सक ने बताया क‍ि परामर्श पाने के लिए 100 रुपये की ओपीडी पर्ची कटानी होती है। ओपीडी में ज्यादातर करियर, शादी, आजीविका व माता-पिता के स्वास्थ्य से जुड़े मामले आ रहे हैं। फिलहाल सर्द‍ियों के अवकाश के चलते के चलते इस समय ओपीडी बंद है। अगले साल की शुरुआत में यह 2 जनवरी से खुल जाएगी।

उन्होंने बताया कि मांगलिक दोष एवं कुंडली के दोष के फेर में अक्सर लोग ज्योतिषाचार्यो का चक्कर लगाने में हजारों रुपये खर्च कर देते हैं। इसे ध्यान में रखते हुए बीएचयू में ज्योतिष ओपीडी चलाई जा रही है। वैसे, ज्योतिष ओपीडी में लोगों को सिर्फ परामर्श दिया जाता है। 

बकौल चिकित्सक - लोगों को व्यक्तिगत रूप से पूजन आदि की विधि बताई जाती है। एक कुंडली पर एक पर्ची काम करती है। अगर अगली बार भी बुलाते हैं तो उसी पर्ची पर परामर्श दिया जाता है। कंप्यूटर से बच्चों की कुंडली भी तैयार की जाती है। हालांकि, यहां रत्न परीक्षण नहीं होता।

ज्योतिष की ओपीडी में प्रमुख तौर पर प्रो़ गिरिजा शंकर शास्त्री, प्रो. चंद्रमौली उपाध्याय, प्रो़ रामजीवन मिश्र जैसे नामी ज्योतिषाचार्य अपनी सेवाएं दे रहे हैं। 

परिसर में स्थित संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के प्रमुख प्रो. चंद्रमा पांडेय कहते हैं क‍ि यहां अवकाश को छोड़कर रोज शाम को ज्योतिष व कर्मकांड ओपीडी चलाई जा रही है। लंबे अवकाश के बाद फिर से इसका संचालन दो जनवरी से शुरू होगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।