धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

बुधवार, 22 अगस्त 2018

कल्याण और मायावती सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे हैं लाल जी टंडन

बिहार के राज्यपाल बनाए गए लालजी टण्डन राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ से शुरुआती दिनों से जुड़े रहे हैं। वह जनसंघ से स्थापना के वक्त से जुड़े रहे और बाद में भारतीय जनता पार्टी में प्रदेश की राजनीति में सक्रिय रहे। वह 14 साल की उम्र से ही आरएसएस में शामिल हो गए थे। 

उनका जन्म 12 अप्रैल 1935 को लखनऊ में हुआ था। लखनऊ में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के काफी करीबियों में उनकी गिनती की जाती है।वाजपेयी के लखनऊ में जनसंघ या भाजपा के प्रत्याशी होने पर उनके चुनाव संचालन की जिम्मेदारी श्री टण्डन पर ही रहती थी। 

लाल जी टण्डन ने राजनीतिक कैरियर वर्ष 1978 में विधान परिषद के सदस्य के तौर पर शुरू किया। वह 1978-84 और 1990-96 तक दो विधान परिषद सदस्य रहे। वर्ष 1996-2009 तक विधानसभा के सदस्य रहने के साथ ही प्रदेश में कल्याण सिंह के नेतृत्व में बनी भाजपा सरकार और मायावती के नेतृत्व में बसपा-भाजपा की गठबंधन की सरकार में काबीना मंत्री भी रहे। इस दौरान उनके ऊर्जा मंत्री व नगर विकास विभाग के साथ ही संसदीय कार्यमंत्री का पदभार संभाला।

वर्ष 2003-2007 तक नेता विरोधी दल भी रहे। उनके तीन पुत्र हैं। इनमें एक पुत्र आशुतोष टण्डन लखनऊ पूर्व से विधायक हैं और प्रदेश में योगी आदित्य नाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार में चिकित्सा शिक्षा व प्राविधिक शिक्षा मंत्री हैं।  अटल बिहारी वाजपेयी के राजनीति से सन्यास लेने के बाद वर्ष 2009 में श्री टण्डन ने लखनऊ में उनकी राजनीतिक विरासत संभाली और सांसद चुने गए। श्री टंडन की गिनती प्रदेश भाजपा के कद्दावर नेताओं में गिनी जाती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।