धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

गुरुवार, 1 नवंबर 2018

बिहार में तेजी से फैल रहे डेंगू ने ली सहरसा एसडीओ की जान

सहरसाः इन दिनों बिहार में डेंगू का कहर तेजी से फैल रहा है. डेंगू की वजह से डीपीओ की मौत होने के बाद भी इससे सबक नहीं लिया गया. अब एक बार फिर डेंगू ने एक और अधिकारी को भी चपेट में ल7े लिया है. जिससे उनकी मौत भी हो गई है. जिससे पूरे सूबे में हलचल सी मच गई है.

दरअसल, सहरसा के एसडीओ सृष्टि सिन्हा को डेंगू हो गया था. जिसके बाद उनका इलाज पटना में चल रहा था, लेकिन एसडीओ सृष्टि सिन्हा ने बुधवार की रात को अंतिम सांस ली. और इलाज के दौरान उनकी मौत पटना स्थित अस्पताल में ही हो गई. अब इस घटना के बाद पूरा स्वास्थ्य विभाग सकते में है.

खबरों के अनुसार, सहरसा में तैनात एसडीओ सृष्टि राज सिन्हा को डेंगू होने के बाद पटना स्थित राजा बाजार में एक प्राइवेट क्लिनिक इलाज चल रहा था. इलाज के दौरान उन्हें बचाने की तमाम कोशिशें की गई. लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. इस घटना के बाद पूरे परिवार में कोहराम मच गया.

बताया जाता है कि एसडीओ सृष्टि सिन्हा का घर पटना स्थित पुनपुन में है. वह पहले हिलसा में एसडीओ पद पर तैनात थे. पिछले माह ही बड़े पैमाने पर प्रशासनिक अफसरों का तबादला हुआ था. जिसके बाद उन्हें हिलसा से सहरसा जिला के लिए एसडीओ पद पर ट्रांसफर किया गया था.

जानकारी के अनुसार, बीते शनिवार को उन्हें तेज बुखार आया और रात तक उनकी हालत गंभीर हो गई. टेस्ट के बाद खुलासा हुआ कि उन्हें डेंगू हो गया है. जिसके बाद फौरन उन्हें पटना इलाज के लिए लाया गया. राजा बाजार प्राइवेट क्लिनिक में इलाज के बाद उन्हें छोड़ दिया गया था.

वहीं, सोमवार को उनकी हालत फिर से बिगड़ गई. उन्हें तेज बुखार आया था तो उन्हें फिर से उसी क्लिनिक में लाया गया. लेकिन हालत स्थिर नहीं हो पाई. बुधवार को इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई.

बहरहाल बिहार में डेंगू का कहर बढ़ता जा रहा है. प्रदेश के कई जिले इसकी चपेट में आ चुके हैं. वहीं, सबसे बड़ी बात है कि जब इतने बड़े अधिकारी भी इसकी चपेट में आकर दम तोड़ रहे हैं. तो उन गरीबों का क्या हाल होगा जो ऐसे जगह रहने को मजबूर है जहां डेंगू तेजी से पैर पसार रही है.

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।