धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

शुक्रवार, 28 दिसंबर 2018

नवगछिया के जाम से विदेशों में धूमिल हो सकती है बिहार की छवि



राजेश कानोडिया, नवगछिया। भागलपुर की लाइफ लाइन कहे जाने वाले विक्रमशिला सेतु मार्ग में एक सप्ताह बाद गुरुवार की सुबह से ही लंबा जाम लग गया। जिसकी वजह से वाहन चालकों के साथ साथ आम आवाम काफी परेशान रहे। यहां तक कि ऑटो पर बैठे यात्री बैठे बैठे परेशान होकर पैदल ही रास्ता तय कर लेना मुनासिब समझे और लाचार होकर सैकड़ों यात्रियों ने पैदल ही अपनी यात्रा पूरी की।

नवगछिया भागलपुर के बीच गुरुवार को विक्रमशिला सेतु और इसके पहुंच पथ पर जहान्वी चौक से नवगछिया जीरो माइल तक तथा नवगछिया जीरो माइल से मकंदपुर चौक तक ट्रकों की काफी लंबी लाइन लगी रही। इसके अलावा जगह जगह ट्रकों के चालकों द्वारा ओवरटेक करके दो-दो लाइन लगा कर मार्ग को अवरुद्ध करते हुए जाम लगा दिया था। जबकि कई जगहों पर नवगछिया और परवत्ता थाना की पुलिस को भी परेशान होते देखा गया। इसके बावजूद एनएच 31 पर भी लंबा जाम लगा रहा। इस जाम में कई अधिकारी और सरकारी कर्मचारी भी फंसे रहे।

बताते चलें कि इसी तरह का जाम एक सप्ताह पहले भी लगता रहा था। जिससे इन दिनों काफी निजात मिली हुई थी। लेकिन गुरुवार की सुबह से लगे जाम ने पुनः आम लोगों को भारी परेशानी में डाल दिया। हालांकि परवत्ता पुलिस के प्रयास ने विक्रमशिला सेतु पर जाम को समाप्त कराने की भरपूर कोशिश की। इधर नवगछिया पुलिस भी जाम को समाप्त करने की कोशिश करती नजर आ रही थी। बावजूद आम लोगों को इससे निजात नहीं मिल रही थी।

अगर नवगछिया भागलपुर मार्ग में अगले और तीन दिनों तक जाम की यही स्थिति रही तो इस परेशानी को सिर्फ नवगछिया और भागलपुर या आसपास के लोग ही नहीं झेलेंगे, बल्कि नवगछिया स्थित जीबी कालेज में शुक्रवार से शुरू हो रहे तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय रसायन सेमिनार में भाग लेने को आने जाने वाले दर्जनों विदेशी वैज्ञानिकों को भागलपुर नवगछिया आने जाने के दौरान इस जाम को झेलना पड़ेगा। जिससे उनके बिहार आने और अपना व्याख्यान देने का प्रयोजन ही बेकार साबित हो जा सकता है। जिससे नवगछिया और भागलपुर प्रशासन की ही नहीं बिहार की छवि धूमिल होगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।