धन्यवाद

*** *** नवगछिया समाचार अब अपने विस्तारित स्वरूप "नव-बिहार समाचार" के रूप मे प्रसारित हो रहा है, आपके लगातार सहयोग से ही पाठकों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 10 लाख को पार कर चुकी है,इसके लिए आपका धन्यवाद। *** नव-बिहार समाचार के इस चैनल में अपने संस्थान का विज्ञापन, शुभकामना संदेश इत्यादि के लिये संपर्क करें राजेश कानोडिया 9934070980 *** ***

गुरुवार, 30 मई 2019

विक्रमशिला एक्सप्रेस में बच्चा पैदा हुआ तो नाम रखा विक्रम


भागलपुर से गाजियाबाद जा रहे एक दंपति के विक्रमशिला एक्सप्रेस में सफर करते समय गर्भवती को अचानक प्रसव पीड़ा शरू हो गई। थोड़ी देर बाद चलती ट्रेन में महिला को असुरक्षित प्रसव हो भी गया। देर रात कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर आनन फानन ट्रेन से उतारकर जच्चा-बच्चा को उपचार दिया गया। स्टेशन पर उपचार की उत्तम व्यवस्था देखकर गदगद दंपती ने बच्चे का नाम ही ट्रेन के नाम पर विक्रम रख दिया।

भागलपुर के मूल निवासी अमर सिंह गाजियाबाद विजय नगर में परिवार के साथ रहते हैं और एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते हैं। वे पिछले दिनों परिवार में शादी समारोह में शामिल होने के लिए पत्नी पूजा देवी और बेटियों खुशबू व अरुषि के साथ भागलपुर गए थे। समारोह के बाद वह परिवार के साथ विक्रमशिला एक्सप्रेस के एस-2 में सवार होकर गाजियाबाद लौट रहे थे। अमर सिंह ने बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन स्टेशन निकल जाने के बाद पत्नी को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। उन्होंने रेलवे स्टॉफ की सूचना दी। इस बीच चलती ट्रेन में ही पत्नी को प्रसव हो गया। साथ में सफर करने वाली एक महिला ने सहयोग दिया और जन्मे बच्चे की ट्रेन में ही सफाई की।

रेलवे स्टॉफ द्वारा कंट्रोल रूम को सूचना दी गई और सुबह सवा चार बजे ट्रेन कानपुर सेंट्रल पहुंची तो पहले से डॉक्टरों की टीम मौजूद थी। महिला व नवजात को स्टेशन पर उतारने के बाद अस्पताल में भर्ती कर उपचार शुरू किया गया। दोपहर तक महिला व नवजात स्वस्थ थे और उन्हें छुट्टी दे दी गई। रेलवे स्टॉफ ने पूरे परिवार को दूसरी ट्रेन से गाजियाबाद भेजने का इंतजाम किया। वहीं पूजा ने बताया कि रेलवे बेटे ने विक्रमशिला एक्सप्रेस में जन्म लिया है, इसलिए उसका नाम भी विक्रम ही रखा है। दंपती ने जाने से पहले रेलवे स्टॉफ का मुंह भी मीठा कराया।

कोई टिप्पणी नहीं:

CURRENT NEWS

ताजा समाचार प्राप्त करने के लिये अपना ई मेल पता यहाँ नीचे दर्ज करें

संबन्धित समाचार

आभारनवगछिया समाचार आपका आभारी है। आपने इस साइट पर आकर अपना बहुमूल्य समय दिया। आपसे उम्मीद भी है कि जल्द ही पुनः इस साइट पर आपका आगमन होगा।

Translatore

आभार

नवगछिया समाचार में आपका स्वागत है| नवगछिया समाचार के लिए मील का पत्थर साबित हुआ 24 नवम्बर 2013 का दिन। यह वही दिन है जिस दिन नवगछिया अनुमंडल की स्थापना हुई थी 1972 में। यह वही दिन है जिस दिन आपके इस चहेते नवगछिया समाचार ई-पेपर के पाठकों की संख्या लगातार बढ़ कर दो लाख हो गयी। नवगछिया, भागलपुर के अलावा बिहार तथा भारत सहित 54 विभिन्न देशों में नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों का बहुत बहुत आभार | जिनके असीम प्यार की बदौलत नवगछिया समाचार के लगातार बढ़ते पाठकों की संख्या 20 मई 2013 को एक लाख के पार हुई थी। जो 24 नवम्बर 2013 को दो लाख के पार हो गयी थी । अब छः लाख सत्तर हजार से भी ज्यादा है। मित्र तथा सहयोगियों अथवा साथियों को भी इस इन्टरनेट समाचार पत्र की जानकारी अवश्य दें | आप भी अपने क्षेत्र का समाचार मेल द्वारा naugachianews@gmail.com पर भेज सकते हैं।